– सुषमा दीदी का देवास से रहा है गहरा नाता
देवास। सुषमा दीदी पार्टी के उत्थान और विकास के हर दौर की साक्षी रहीं। एक प्रखर नेता के रूप में उन्होंने हर दौर में अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज कराई। युवा सांसदों, नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिए तो सुषमा दीदी का इस तरह जाना गंभीर क्षति है, जिनका स्नेहिल मार्गदर्शन सभी को सहजता से उपलब्ध रहता था। यह बात भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष श्री नंदकिशोर पाटीदार ने पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कही।
पाटीदार ने कहा कि सुषमा दीदी की वक्तृत्व कला ने उनके राजनीतिक कॅरियर की शुरुआत से ही सभी को आकर्षित करना शुरू कर दिया था। कठिन से कठिन विषय को पूरी सरलता के साथ स्पष्ट करना उनकी विशेषता रही। पार्टी के प्रति उनका समर्पण अद्वितीय था। संगठन के आदेश पर वे बिना ना नुकूर के बेल्लारी से कांग्रेस प्रत्याशी सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ीं ।
पाटीदार ने कहा भारत के विदेश मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल में सारी दुनिया में एक अमिट छाप छोड़ी है। उन्होंने न सिर्फ विदेश मंत्रालय के चेहरे को मानवीय और मददगार स्वरूप प्रदान किया, बल्कि वे समूची शासन प्रणाली के मानवीयकरण की अग्रदूत के रूप में याद की जाएंगी।
उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की धरती एवं देवास जिले से स्व. सुषमा दीदी का विशेष संबंध रहा है। विदिशा लोकसभा क्षेत्र के अंर्तगत आने वाली खातेगांव विधानसभा से सांसद होने के नाते देवास जिले से उनका गहरा नाता रहा है। उनका असमय जाना प्रदेश एवं जिले के हर कार्यकर्ता, हर व्यक्ति के लिए दुखद है। मैं उनकी आत्मिक शांति की कामना करता हूं और ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वे उनके परिजनों को इस असीम दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *