अवैध संबंधों के चलते की थी हत्या, अधिकारियों को 10 हजार का इनाम

देवास। दिनांक 06 . 08 19 की सुबह करीब 800 बजे ग्राम छोटी बरका के चोकीदार व्दारा फोन पर सूचना दी गई कि एक अजात महिला की लाश सुरेश नाई के खेत के पास पड़ी है । सूचना पर से थाना प्रभारी एस एस मुकाती खातेगांव मय फोर्स के घटना । स्थल पर पहुचे घटना स्थल का बारीकी से निरिक्षण किया तो प्रथम दृष्टया मामला किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मृतिका के । सिर पर पत्थर पटककर हत्या करने का प्रतीत हआ जिससे मर्ग क्र . 40 / 2019 धारा 174 जा0 फौ कायम कर जांच पर से अपराध क्र0 483 / 2019 धारा 302 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया मृतिका की शिनाख्त उसकी खातेगांव में । रहने वाली लड़की दीपिका व्दारा चंदाबाई पति शंकर प्रजापत उम 56 साल निवासी ग्राम जामली पी एस सिविल लाईन जिला हरदा हाल त्रिमूर्ति कालोनी खातेगांव के रूप में कि गई पुलिस अधीक्षक महोदय व्दारा महिला की निर्मम पुर्वक हत्या होने से मामले को गम्भीरता से लिया गया तथा एस डी ओ पी कन्नौद एवं थाना प्रभारी खातेगांव के नेतृत्व में टीम का गठन किया जाकर मामले की तत्परता से छानबीन कर अज्ञात आरोपीयो कि पतारसी हेतू आवश्यक दिशानिर्देश दिये गये एवं सायबर सैल को भी प्राथमिकता से मामले कि विवेचना में इमदाद हेतू आदेशित किया गया । अज्ञात आरोपीयो की पतारसी एवं गिरफ्तारी हेतु 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की गई । दौराने विवेचना मृतिका के परिजनों से पुछताछ की गई तो जात हआ कि मृतिका करीब 10 – 12 साल पहले अपने पति शंकर को छोड़ कर गांव के घोटू उर्फ निर्भय सिंह कोरकू के साथ रही बाद करीब एक साल पहले घोट ने उसे छोड़ दिया तो गांव के रामलाल विश्नोई के शादी सुदा लड़के राजेश के साथ उसके अवैध संबंध हो गये थे और एक दिन राजेश कछ रूपये अपने घर से लेकर चदा बाई को । भगा कर खातेगाव ले आया जिसकी चोरी की रिपोर्ट उसके पिता रामलाल ने हरदा थाने में कर उसे जैल भिजवा दिया जब यह बात राजेश के फूफा लालचंद को पता चली तो उसने ठान लिया कि चंदा बाई की वजह से मेरे साल का घर बर्बाद हुआ है एवं परिवार की बहुत बदनामी हुई मैं उसे जिंदा नहीं छोडूंगा उसके बाद पुलिस को मृतका के मोबाईल सी डी आर से जात हआ कि मृतिका को आखिरी काल करने वाला मोबाईल नम्बर फर्जी है तथा उस मोबाइल नम्बर की दो लोकेशन घटना स्थल तथा ग्राम बड़ी जिला हरदा थी उसके बाद पुलिस ने मृतिका के पूर्व प्रेमी राजेश से जेल में मिलने वाले लोगों की जानकारी प्राप्त की तो ज्ञात हुआ कि राजेश का फुफा लालचंद बैडी का रहने वाला है जो राजेश से कई बार मिलने आया है । चूकि मृतिका से आखरी काल करने वाला मोबाईल नम्बर की लोकेशन बैंडी होने से पलिस की शक की सई लालचंद पर आकर रुक गई और जेल से लालचंद का मोबाईल नम्बर प्राप्त कर सी डी आर से ज्ञात हुआ कि घटना दिनांक एवं समय पर मृतिका को आखिरी काल करने वाले मोबाईल नम्बर तथा लालचंद के स्वय के मोबाइल नम्बर की लोकेशन एक ही टावर पर खातेगाव में थी जिससे पुलिस का शक लालचंद पर ओक ज्यादा गहरा गया और लालचंद को थाने पर लाकर पूछताछ की गई तो उसने बताया कि मैने दीपक नाम के सिम विक्रेता से फर्जी सिम खरीद कर मृतिका से फोन पर बात करके उसे अपनी बातो में फंसा लिया था जिसे अपने दोस्त रामविलास नाथ के साथ मिल कर फर्जी सिम से फोन करके । चदा बाई को सूनसान जगह पर बुला कर अपने गमछे से रामविलास के साथ उसका गला घोट कर लया सिर पर पत्थर पटक कर हत्या कर दी थी । फर्जी सिम का रेपर एवं घटना में प्रयुक्त अन्य साक्ष्य लालचंद के घर से जप्त किये गये । बाद । आरोपी लालचंद पिता रामाधार विश्नोई उम 56 साल निवासी ग्राम बडी जिला हरदा रामविलास नाय पिता हरिराम उम46 साल निवासी सिराल्या खातेगाव एवं दुसरे व्यक्ति की आईडी पर सिम बचने वाले दीपक पिता लक्ष्मीनारायण खले उम211 साल निवासी ग्राम ऊडा जिला हरदा को गिरफ्तार किया गया । अज्ञात महर को ट्रेस करने में पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रशेखर सोलंकी के मार्गदर्शन में अति पुलिस अधीक्षक जगदीश डाबर के निर्देशन में एसडीओपी कन्नौद निर्भय सिंह अलावा के नेतृत्व में थाना प्रभारी निरीक्षक सज्जन सिंह मुकाती उनि0आर0सी0बिल्लोरे उनि० अरविन्द भदोरिया आर 63 रवि राव आर 400 जितेन्द्र तोमर आर 244 राहल आर्य , सायबर सैल आर शिवप्रताप सँगर आर सचिन चौहन आर 521 मनीष आर 869 पवन शर्मा आर 195 ओमप्रकाश पाटिल आर0 648 ओमप्रकाश पटेल आर 269 अरुण आर 279 सधीर सैनिक । 30 मनीष की टीम द्वारा दिन रात लगातार मेहनत कर अज्ञात आरोपीयों की पतारसी कर घटना का पर्दाफास करने एवं आरोपीयों की गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है जिनके उत्साहवर्धन हेतु पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा 10 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *